शिव-पार्वती पर फूहड़ गीत गानेवाले राकेश मिश्रा के खिलाफ केस दर्ज, बाकी अश्‍लील गायकों की भी लिस्‍ट हो रही है तैयार

भोजपुरी फिल्‍मों और अल्‍बम्‍स में फैली भयंकर अश्‍लीलता ने देवी-देवताओं को भी लपेटे में ले लिया है। अश्‍लीलता फैलानेवालों को इस बात की रत्‍ती भर भी परवाह नहीं है कि उन गीतों को सुनने-देखने के बाद श्रद्धालुओं के दिल पर क्‍या गुजरेगी और समाज पर उसका किस हद तक दुष्‍प्रभाव पड़ेगा।

ताजा मामला राकेश मिश्रा के गाये एलबम ‘दरदिया भइल ये भोला’ को लेकर गरमाया हुआ है। पता चला है कि राकेश मिश्रा के खिलाफ कुछ संगठनों ने केस दर्ज करा दिया है और कुछ दर्ज कराने की तैयारी में हैं।

अश्लील गाना मत गाईं लोग , मत सुनीं लोग,मत देखीं लोग , आ जहां कहीं फुहर गाना बाजत देखीं त ओकर विरोध करींआ आपन माई भाषा भोजपुरी के लाज बचाईं इहे हमार रउवाॅ लोगन से निहोरा बा। #जय_भोजपुरी

Posted by Ranjeet Prasad on Tuesday, July 3, 2018

सूत्रों की मानें तो कुछ संगठनों ने तो यू ट्यूब चैनल देख-देखकर गंदे गीतों के गायकों और उन गीतों को अपलोड करने वाली म्‍यूजिक कंपनियों और प्राइवेट चैनल्‍स की पहचान कर लिस्‍ट बनानी शुरू कर दी है, ताकि सभी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सके।

दरअसल, उस गीत का फिल्‍मांकन इतना फूहड़ तरीके से किया गया है कि एक सभ्‍य परिवार 30 सेकंड भी उसे नहीं देख सकता। हालांकि राकेश मिश्रा के इस बेहूदे गीत की सोशल मीडिया पर जब जमकर फजीहत हुई तो इसे रिलीज करनेवाली म्‍यूजिक कंपनी एसआरके ने इसके वीडियो को डिलीट कर दिया था।

लेकिन एसआरके का शातिरपना देखिये कि उसने टी सीरिज से गठजोड़ कर उसके भोजपुरी चैनल पर अपलोड करवा दिया। आज भी वो गीत चल रहा है टी सीरीज के चैनल पर, लेकिन गीत के साथ लोगो एसआरके का दिखायी देता है।

महाराष्‍ट्र के पूर्व गृहमंत्री कृपाशंकर सिंह ने भी भोजपुरी में फैल रही अश्‍लीलता पर गहरा अफसोस जताते हुए इस पर रोक लगाने और इसके लिए आवश्‍यक कानूनी कार्रवाई किये जाने की बात कही है।

फिलहाल, भोजपुरी संगठन और संस्‍थाएं जिस तरह से अश्‍लीलता के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं और लोगों में जागरूकता बढ़ रही है, उससे लग तो यही रहा है कि ये अभियान एक बड़ा आंदोलन का रूप लेगा और इस दिशा में सरकार को सख्‍त कार्रवाई करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *