वीडियो: खेसारी लाल के जन्‍मदिन का जश्‍न इस तरह मनाकर भोजपुरी वालों ने किया भोजपुरी को बदनाम


खुशी का जश्‍न मनाने का बेशक सबको हक है। लेकिन क्‍या खुशी का इजहार इस तरह किया जाना चाहिए कि देश के करोड़ों लोगों को उस जश्‍न पर पश्‍चाताप हो। कोरोना वायरस की वजह से समूचे विश्‍व की सांसे हलक में फंसी हैं, लेकिन भोजपुरी वालों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। देश में चारों ओर उदासी फैली हुई है, सारे स्‍कूल कॉलेज बंद कर दिये गये हैं, सिनेमाघरों पर ताले लटक गये हैं। कई निर्माताओं के सामने सड़क पर आने की नौबत आ चुकी है। सिनेमाघर में काम करनेवालों का जॉब जा चुका है। सिनेमाघर के मालिक त्राहि त्राहि कर रहे हैं, लेकिन भोजपुरी वाले खेसारी लाल का जश्‍न मना रहे हैं। इतना ही नहीं, इनकी असंवेदनशीलता और मानसिक स्‍तरहीनता तो देखिए कि ये जन्‍मदिन का जश्‍न कितने गंदे तरीके से मना रहे हैं। ऐसा लगता है कि केक कभी देखा भी नहीं हो…एक महिला तो इन्‍हें समझा भी रही है कि केक बड़ा है, आराम से खाइये।

आज की तारीख में दुनिया भर के लोग हाथ मिलाने से कतरा रहे हैं, लेकिन इन्‍हें कोई डर नहीं है। मुफ्त में खाने और डकराने को मिल गया तो सारी हदें भूल गये। कई लोगों की बॉडी लैंग्‍वेज बता रही है कि वो नशे में टुन्‍न हैं। कुछ तो ऐसे चिल्‍ला रहे हैं, जैसे कोरोना वायरस देख लिया हो। एक बात तय है कि ये यू ट्यूब के भरोसे चाहे धन जितना भी कमा लें, लेकिन इज्‍ज्‍त कमाना इनके बस की बात नहीं है। दुख तो ये है कि इनकी वजह से पूरी भोजपुरी समाज बदनाम हो रहा है। जरा इन लोगों का तमाशा देखिए…