March 8, 2021

News Gossip

सेंसेनल न्यूज़ रूम

रत्नाकर कुमार की अवधेश मिश्रा निर्देशित ‘जुगनू’ ने नयी उम्मीद जगायी

आज वसंत पंचमी है। हर्ष और उल्‍लास का दिन…। इस पावन पर्व के अवसर पर भोजपुरी फिल्‍म ‘जुगनू’ का फर्स्‍ट लुक जारी किया गया है। इसे देखकर प्रथम दृष्‍टि में लगता ही नहीं कि ये किसी भोजपुरी फिल्‍म का फर्स्‍ट लुक है, क्‍योंकि इसको बनाया ही गया है एक नयी सोच के साथ। इस फिल्‍म के प्रोड्यूसर वर्ल्‍डवाइड रिकॉर्ड्स के रत्‍नाकर कुमार और लेखक-निर्देशक अवधेश मिश्रा हैं। वही अवधेश मिश्रा, जो हर तरह के किरदारों में उतरकर उसे जीवंत बना देने की काबिलियत रखते हैं।

रत्‍नाकर कुमार इकलौते मेकर हैं, जो बतौर प्रोड्यूसर हमेशा कुछ अलग करने की कोशिश करते हैं। कॅमर्शियल फिल्‍म को भी एक दायरे में रहकर बनाते हैं। उनकी दिली ख्‍वाहिश है कि भोजपुरी में ऐसी फिल्‍मों का निर्माण किया जाये तो कंटेंट के साथ ही कॅमर्शियली भी अच्‍छी साबित हों। लोगों का स्‍वस्‍थ मनोरंजन करें।

इसके लेखक-निर्देशक अवधेश मिश्रा ने लॉकडाउन में चुपचाप जाकर जिस तन्‍मयता से इस फिल्‍म को कैमरे में कैद किया है, उसकी ये पहली झलक बहुत कुछ कह रही है। अब तक भोजपुरी फिल्‍मों के किस तरह के रंग-बिरंगे पोस्‍टर आते रहे हैं, आप सभी को पता है। बस सर काटो, चिपका दो। कुछ वल्‍गर सीन दिखा दो।

बात अगर इसके गीत-संगीत की करें तो मीडिया में इस फिल्‍म के एक गीत के बोल भी अवधेश मिश्रा ने गुनगुनाकर सुनाये हैं, जो बेहद प्‍यारे हैं। शब्‍द भी सुंदर और धुन भी कर्णप्रिय। उम्‍मीद है कि बाकी गीत भी इसी तहर स्‍तरीय होंगे।

यहां इस तरह की फिल्‍म के निर्माण के लिए हर तरह से सहयोग देने के लिए वर्ल्‍डवाइड रिकॉर्ड्स को भी थैंक्‍यू कहना होगा, जिसने स्‍टार की बजाय कंटेंट को महत्‍व दिया। यह सिलसिला लंबे समय तक चलता रहना चाहिए। भोजपुरी का कायाकल्‍प तभी हो सकता है।