Menu
0 Comments

हाल ही में मध्य प्रदेश के शिवपुरी में पुलिस के सामने एक अनूठा मामला पहुंचा। यहां आठ माह की बच्ची को पड़ोस में किराए पर रहने वाले एक परिवार के मुर्गे ने तीसरी बार काटकर घायल कर दिया। इससे आक्रोशित बच्ची रितिका की मां पूनम कुशवाह थाने पहुंच गई। वह बेटी को भी थाने लेकर गई। इस दौरान वह मुर्गे पर केस दर्ज कराने को लेकर अड़ गई। इसके बाद पड़ोसी मुर्गे को लेकर थाने में पेश हुआ।

पूनम ने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी की जान पर संकट आ गया है। पड़ोस में रहने वाले पप्पू जाटव के मुर्गे ने उसकी बेटी रितिका को तीसरी बार काटा यानि चोंच से हमला किया है। इसलिए मुर्गे के खिलाफ केस दर्ज किया जाए। महिला ने साफ कह दिया कि जब तक केस दर्ज नहीं होगा, वह घर नहीं जाएगी। आनन-फानन में दो पुलिसकर्मी पप्पू के घर भेजे गए और मुर्गे के साथ पप्पू थाने में पेश हुआ। यहां पप्पू ने स्वीकार किया कि उसके मुर्गे ने रितिका को काटा है।

इस बीच घटना की जानकारी पप्पू की पत्नी रीना को हुई, तो वह भी थाने पहुंची और रोने लगी। उसने कहा कि उसकी कोई औलाद नहीं है, इसलिए वह मुर्गे को ही बेटे की तरह मानकर पाल रही है। मुर्गा नादान है और न जाने कैसे उसने रितिका को काट लिया। आगे से वह उसे बांधकर रखेगी। मुर्गे को छोड़ दिया जाए, चाहे बदले में उसे खुद जेल में डाल दो। अंत में सब के समझाने पर बहुत मुश्किल से पूनम का गुस्सा शांत हुआ और उसने मुर्गे के खिलाफ केस दर्ज करने की जिद छोड़ी|

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!