Menu
0 Comments

बीमे की रकम के लिए खुद रची अपने क़त्ल की साजिश

मध्य प्रदेश के रतलाम निवासी हिम्मत पाटीदार की हत्या के मामले में एक जबरदस्त ख़ुलासा हुआ है| पुलिस के मुताबिक, पाटीदार ने बीमे की रकम हासिल करने के लिए खुद ही अपने कत्ल की साजिश रची थी और अपनी जगह गांव के एक शख्स का कत्ल करके खुद लापता हो गया|

हत्या की यह घटना पिछले सप्ताह की है, जब पाटीदार के खेत में एक व्यक्ति की लाश मिली थी| लाश का चेहरा जला हुआ था, लेकिन हुलिया हूबहू हिम्मत पाटीदार से मिलता हुआ था| घटनास्थल के पास से ही जूते, मोटरसाइकिल और खेत में खून से सना एक बेल्ट भी मिला था, जिसकी हिम्मत के परिवार ने हिम्मत की चीज़ों के तौर पहचान की थी|

इस आधार पर इसे हिम्मत की लाश माना गया और कातिल की तलाश शुरू की गई| उसी दिन से हिम्मत के गांव का रहने वाला मदन मालवीय नाम का व्यक्ति घर से गायब था, लिहाज़ा पुलिस को उसपर हिम्मत की हत्या करने का शक था| लेकिन लाश की डीएनए जांच में पता चला कि लाश हिम्मत की नहीं, मदन मालवीय की ही थी|

तब पुलिस ने दूसरे एंगल से जांच की तो पता चला कि हिम्मत पाटीदार के सिर पर करीब दस लाख रुपये का कर्ज था| इसी से छुटकारा पाने के लिए उसने खौफनाक साजिश रची| पाटीदार ने दिसंबर 2018 में 20 लाख रुपये का बीमा करवाया था और अपनी कदकाठी के मदन की हत्या कर खुद फरार हो गया|

Tags:
error: Content is protected !!