Menu
0 Comments

पवन सिंह हीरोइनों की नाभि में उंगली क्‍यों करते हैं, मधु शर्मा ने किया खुलासा

भोजपुरी इंडस्‍ट्री में फिलहाल काम कर रहे लोगों ने इंडस्‍ट्री का परचम कितना लहराया है और अपनी ‘अद्भुत एक्‍टिंग’ से इंडस्‍ट्री के साथ-साथ खुद का नाम कितना रोशन किया है, ये किसी से छुपा नहीं है। फिर भी किसी को यदि किसी को पता न हो या कम पता हो तो वो यू ट्यूब पर ‘भोजपुरी सांग्‍स’ टाइप करके देख ले। भोजपुरी की ऐसी बदरूपता सामने आयेगी कि सिर शर्म से झुक जायेगा।

सीधे-सीधे शब्‍दों में कहें तो अश्‍लीलता में आकंठ डूबी इस इंडस्‍ट्री में होड़ मची हुई है कि कौन कितना नीचे तक गिर सकता है और कई हीरोइनें इस गंदे काम में जमकर अपना उत्‍कृष्‍ट सहयोग प्रदान कर रही हैं।

इंडस्‍ट्री कोई भी हो, आनेवाले नये कलाकार हमेशा उनको ही अपना आदर्श मानते हैं, जो वरिष्‍ठ होते हैं। और यहां कथित रूप से तीन ही वरिष्‍ठ कलाकार हैं दिनेशलाल निरहुआ, पवन सिंह और खेसारी लाल और ये तीनों ही अश्‍लीलता के जबर्दस्‍त पक्षधर रहे हैं। उनकी अपनी फिक्‍स्‍ड हीरोइनों ने भी भोजपुरी संस्‍कृति और संस्‍कार को दागदार बनाने में उनको अपना भरपूर सहयोग प्रदान किया है।

सोशल मीडिया में कई बार लोग ये सवाल उठाते हैं कि क्‍या हिंदी फिल्‍मों में अश्‍लीलता नहीं होती….जो भोजपुरी में इतना तीव्र विरोध हो रहा है। उनके लिए जवाब यही है कि वहां भी हर चीज होती है…वहां भी ग्‍लैमरस और सेंसेशनल सींस फिल्‍माये जाते हैं, लेकिन सही तरीके से। उन्‍हें हमेशा इस बात का खयाल रहता है कि कोई भी सीन फूहड़ न लगे। जबकि भोजपुरी फिल्मों में इरादतन फूहड़ दृश्‍य ही फिल्‍माये जाते हैं। आपने देखा भी होगा कि हीरोइनों की नाभि का प्रदर्शन हर भाषा की फिल्‍मों में किया जाता है, क्‍योंकि वो कुदरती तौर पर आकर्षण का केंद्र है। लेकिन भोजपुरी जैसा कहीं नहीं।

यहां तो हीरोइनों की नाभि को चूमने, चाटने और उसके इर्दगिर्द गोल-गोल हाथ घुमाने से लेकर उसमें उंगली डालने तक का घिनौना और घटिया काम किया जाता है, वो भी दोअर्थी गीतों के साथ। पर इंडस्‍ट्री में जब भी इसकी चर्चा होती थी, तो दबी जुवान में लोग यही कहते थे कि ये काम हीरो अपने मन से करता है और हीरोइनों को वैसा करने देने के लिए मनाने का काम भी हीरो ही करता है। हीरोइनें भी काम पाने के लालच में हीरो को मना नहीं कर पातीं।

लेकिन अब जब मधु शर्मा ने मीडिया के सामने आकर खुद बता दिया कि ये गंदा काम कौन करता-करवाता है और क्‍यों करवाता है तो सारी हकीकत दुनिया के सामने आ गयी है। हैरत की बात तो ये है कि इस इंटरव्‍यू में मधु शर्मा कह रही हैं कि बाकी सभी लोगों को ऐसा करवाना अच्‍छा लगता है, लेकिन उन्‍हें कंफर्टेबल फील नहीं होता, इसलिए उन्‍होंने नहीं करने दिया। मधु शर्मा ने और क्‍या-क्‍या कहा, आप खुद ही सुन लीजिए…..

Tags: , , , ,
error: Content is protected !!