Menu
0 Comments

भोजपुरी इंडस्‍ट्री में लोग अनिल काबरा की कंपनी इंडिया ई कॉमर्स लि. की तुलना बॉलीवुड के यशराज प्रोडक्‍शन से करते हैं, लेकिन उसकी ही फिल्‍मों ‘सड़क’ और ‘धनिया’ की शूटिंग करने राजस्‍थान गये यूनिट के लोगों के साथ जो बर्ताव किया गया है, उससे पूरी यूनिट खफा है।

सूत्रों के अनुसार वहां हीरोइनों के रहने की व्‍यवस्‍था तो भीलवाड़ा के थ्री स्‍टार होटल ग्‍लोरिया इन में की गयी थी, जबकि डायरेक्‍टर धीरज ठाकुर और मशहूर विलेन राज कपूर शाही समेत तमाम लोगों को उसी होटल के सामने स्‍थित एक मैरिज हॉल के कमरे में रहने को मजबूर कर दिया गया था। इतना ही नहीं एक-एक कमरे में कितने कितने लोगों के रहने की व्‍यवस्‍था की गयी थी, इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि खुद राज कपूर शाही के कमरे में कुल 8 लोगों को ठहराया गया था। इसके अलावा भीलवाड़ा से मुंबई आने के लिए सभी को महज दो-दो सौ रुपये देकर जान छुड़ा ली गयी।

इस घटना से आहत राजकपूर शाही ने फेसबुक पर लिखी अपनी पोस्‍ट में कहा है कि धीरज ठाकुर एक प्रतिभासंपन्‍न और मेहनती डायरेक्‍टर हैं और उनसे राजकपूर शाही को कोई शिकायत नहीं है, लेकिन इतना तय है कि वो अब धीरज ठाकुर के साथ उपरोक्‍त दो फिल्‍मों के अलावा फिर कभी किसी फिल्‍म में काम नहीं करेेंगे। उन्‍होंने कहा है कि धीरज ठाकुर के साथ पहली फिल्‍म करते वक्‍त जो वादा किया था, उसको निभा दिया। लेकिन अब वो फिर कभी धीरज ठाकुर के साथ काम नहीं करेंगे।

जरा सुनिए, फेसबुक लाइव होकर राजकपूर शाही और क्‍या-क्‍या बातें कह रहे हैं…

Tags: , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!