Menu
5 Comments

राजकुमार पांडेय भोजपुरी इंडस्‍ट्री में कभी भोजपुरिया सुभाष घई कहे जाते थे, लेकिन आज उनकी स्‍थिति ऐसी हो गयी है, कि कोई उधर देखना भी नहीं चाहता। उनके बेटे चिंटू का भी यही हाल है और ये स्‍थिति ‘दुलहिन चाही पाकिस्‍तान से 2’ की जबर्दस्‍त नाकामी के बाद हुई है। सूत्रों पर यकीन करें तो इस फिल्‍म के बाद चिंटू पांडेय के भविष्‍य पर अब प्रश्‍नचिह्न लगने जा रहा है, क्‍योंकि उनपर से उनके निर्माताओं का विश्‍वास ही उठ गया है।

खबरों के अनुसार जब प्रदीप पांडे उर्फ चिंटू पांडेय, सुरभि शुक्‍ला, शुभि शर्मा और गार्गी पंडित अभिनीत ‘दुलहिन चाही पाकिस्‍तान से 2’ बनकर तैयार हुई तो इसके लेखक-निर्देशक राजकुमार पांडेय का दिमाग सातवें आसमान पर था। उन्‍हें यह गलतफहमी हो गयी थी कि उन्‍होंने तहलका मचा देनेवाला प्रोजेक्‍ट बनाया है। इसी वजह से वो किसी भी वितरक की बात सुनने को तैयार नहीं थे।

सूत्रों की मानें तो उन्‍होंने अपने बेटे की इस फिल्‍म को बिहार-झारखंड में रिलीज करने के एवज में 60 लाख की डिमांड की थी, लेकिन एक भी वितरक इसके लिए तैयार नहीं हुआ। सुना है कि एक वितरक 40 लाख तक देने को जरूर तैयार हुआ था, लेकिन पांडेय जी ने उसे जरा भी तवज्‍जो देना उचित नहीं समझा। परिणाम ये हुआ कि उन्‍हें अपनी इस फिल्‍म को खुद ही रिलीज करना पड़ा। इसके लिए उन्‍हें निरहुआ एंटरटेनमेंट के ऑफिस का सहारा लेना पड़ा। लेकिन जानते हैं, इस फिल्‍म को रिलीज करने बाद उन्‍हें क्‍या मिला…सुना है कि डिजिटल कॉस्‍ट काटकर बमुश्‍किल 17 लाख ही मिल पाये।

ये रहा बिहार का हाल। अब जरा मुंबई का भी हाल जान लीजिए। बिहार में इस फिल्‍म के पिट जाने के बाद जब इसे मुंबई में रिलीज किया गया तो दर्शकों को पता चल चुका था कि इसमें अश्‍लीलता के सिवाय कुछ नहीं है, इसलिए दर्शक थियेटर में गये ही नहीं। चूंकि इस बात का अंदेशा राजकुमार पांडेय को पहले से था, सो उन्‍होंने अपनी और अपने बेटे की इज्‍जत बचाने के लिए फोन कर-करके अपने कई करीबी लोगों को कहा कि वो उनकी फिल्‍म के सौ-पचास टिकटें खरीदें और खरीद कर उन्‍हें व्हाट्सएप करें, ताकि वो इत्‍मीनान कर सकें कि वाकई टिकट खरीदे गये हैं।

राजकुमार पांडेय ने फोन कर-करके लोगों को टिकट खरीदने को कहा था

अब भला किसी की फिल्‍म इस तरह कभी चली है कि इनकी चलती? हालांकि इनके कुछ करीबियों ने इनकी बात मानकर कुछ टिकट खरीदे भी, लेकिन कुछ ने तो एक भी टिकट नहीं खरीदा। एक बिल्‍डर ऑफिस में राजकुमार पांडेय ने 100 टिकट खरीदने को कहा था, लेकिन उस बिल्‍डर ने भी 100 टिकट नहीं खरीदे। हैरत की बात तो ये कि मुफ्त की टिकट लेकर जो लोग थियेटर में गये भी, उनमें से कई बोर होकर बीच में ही थियेटर से बाहर निकल आये। यह कहानी मुफ्त में देखने गये एक शख्‍स से ही पता चली।
लेकिन सबसे हैरतअंगेज खबर तो अब पता चली है। इंडस्‍ट्री के एक सूत्र ने बताया कि चिंटू को आगामी जिन फिल्‍मों के लिए निर्माताओं ने साइन किया था, उनमें से आधे दर्जन से भी अधिक लोगों ने अपने साइनिंग एमाउंट वापस मांग लिये हैं। एक सूत्र नाम न बताने की शर्त पर कहता है कि रत्‍नेश और मीरा रोड के एक निर्माता समेत आठ-दस लोगों ने अपने साइनिंग एमाउंट वापस करने को कह दिया है। जाहिर है कि अगर इन सभी के साइनिंग एमाउंट लौटाने पड़ते हैं तो चिंटू के पास फिल्‍में बचेंगी ही नहीं।

फिलहाल हम यही कहेंगे कि अगर इंडस्ट्री को बचाना है तो हर निर्माता, निर्देशक, लेखक, हीरो, हीरोइन सभी मिल बैठकर चिंतन करें कि अब उनका वजूद कैसे बच सकता है। इतना तो तय है कि अश्‍लीलता के बल पर अब फिल्‍में नहीं चलायी जा सकतीं। अच्‍छा कंटेंट और नये-नये चेहरों के साथ देना ही पड़ेगा, तभी लोगों को ताजगी महसूस होगी। बूढ़े हो चुके हीरो-हीरोइनों को अब हीरो की बजाय अपनी उम्र के हिसाब से रोल करने होंगे या फिर वो निर्माता–निर्देशक की भूमिका निभायें।

 

Tags: , , ,

5 thought on “‘दुलहिन चाही पाकिस्तान से 2’ की नाकामी के बाद आधा दर्जन निर्माताओं ने चिंटू पांडेय से साइनिंग एमाउंट वापस मांगा”

  1. You need to get involved and learn exactly what they desire.
    Social bookmarking has become one of the favorite tools of webmasters, bloggers, an internet-based businesses.
    But you need to careful perfect here. https://918kiss.bid/downloads/220-download-lpe88

  2. You need to get involved and learn exactly what they
    desire. Social bookmarking has become one of the favorite tools of webmasters,
    bloggers, an internet-based businesses. But
    you need to careful perfect here. https://918kiss.bid/downloads/220-download-lpe88

  3. ace 333 says:

    All it takes is a little bit of effort and several hours.
    They have the ability to summarize an entire article which will also stimulate emotion or provoke an answer.
    Otherwise, close it and pick a better a. https://918kiss.poker/downloads

  4. Use the keywords are actually specifically correlated to your site content.
    To make it seem natural, must create about 20 links a day unless
    possess access to many different IP’s. http://www.francescascountrypainting.com/the-casino-game-for-extra-income/

  5. Use the keywords are actually specifically correlated to your
    site content. To make it seem natural, must create about
    20 links a day unless possess access to many different IP’s. http://www.francescascountrypainting.com/the-casino-game-for-extra-income/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!