Menu
0 Comments

क्‍यों ‘निरहुआ चलल लंदन’ के लोगों ने डिलीट करवाया साईं रिकॉर्ड्स से उसका 9 साल पुराना गीत?

 

‘निरहुआ चलल लंदन’ के एक गीत ‘चेहरा तोहार छल छलके….’ का एक नया राज कल से ही सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बना हुआ है। यह गीत 9 जनवरी को यू ट्यूब पर अपलोड हुआ था और अब तक साढ़े सात लाख से अधिक लोग इसे देख चुके हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि ये नया नहीं, 9 साल पुराना गीत है, जिसे कभी दामोदर राव की म्‍यूजिक कंपनी साईं रिकॉर्ड्स डिजिटल ने रिलीज किया था।

मजे की बात तो ये है कि कल तक ये गीत उनके ही यू ट्यूब चैनल पर चल रहा था। लेकिन जैसे ही इसकी पोल खुली, ये यू ट्यूब के उस चैनल से गायब हो गया, जिस पर पिछले 9 सालों से चल रहा था।

दरअसल इस गाने की हकीकत दुनिया के सामने आने से इसके गीतकार और संगीतकार को बहुत झेंप महसूस होने लगी। सुना है कि शर्म के मारे इस गीत के गीतकार राकेश निराला और संगीतकार मधुकर आनंद ने साईं डिजिटल रिकॉर्ड्स के मालिक दामोदर राव से गुजारिश की और दबाव बनाकर उनसे वो गीत उनके चैनल से हटवा दिया।

वैसे भी कहां ‘निरहुआ चलल लंदन’ बनाने वाले रत्‍नाकर कुमार की वर्ल्‍डवाइड रिकॉर्ड्स कंपनी और कहां दामोदर राव की साईं रिकॉर्ड्स डिजिटल। बेचारे दामोदर राव दबाव में आ गये और उन्‍हें उस गीत को अपने चैनल से हटाना पड़ा।

वैसे छानबीन करने पर पता यही चला है कि उस गीत को लिखा इसी राकेश निराला ने था, जिनका नाम निरहुआ चलल लंदन’ के उस गाने के लिए भी बतौर गीतकार दर्ज है। यानी 9 साल पहले राकेश ने जो गीत सद्गुरु फिल्‍म्‍स वालों के लिए लिखा था, अब उसी गीत का सौदा ‘निरहुआ चलल लंदन’ के साथ कर लिया है।

यद्यपि दामोदर राव के चैनल से वो गीत हट चुका है, लेकिन हम उसी गीत का स्‍क्रीन शॉट दे रहे हैं, जो दामोदर राव के चैनल पर चल रहा था।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

1

 

 

 

 

Tags: , ,
error: Content is protected !!