क्‍यों ट्रेलर में छुपा लिया गया था ‘बलम जी लव यू’ के गंदे गीत को?

भोजपुरी इंडस्‍ट्री व्‍यावसायिक नजरिए से बर्बादी के उस मुहाने पर पहुंच चुकी है, जहां इसके मेकर्स खुद नहीं समझ पा रहे हैं कि अब वो क्‍या दिखायें कि दर्शक थियेटर्स तक फिल्‍म देखने आयें। बावजूद इसके अश्‍लीलता परोस-परोस कर भोजपुरी फिल्‍मों को मौत के मुंह में धकेलनेवाले फिल्‍मकार अभी भी अश्‍लीलता के मोह से उबर नहीं पा रहे हैं।

मिसाल के तौर पर आप निर्देशक प्रेमांशु सिंह की हालिया रिलीज फिल्‍म ‘बलम जी लव यू’ को ले लीजिए, जिसमें खेसारी लाल यादव और शुभि शर्मा की जोड़ी है। इन्‍हीं दोनों पर इस फिल्‍म में एक निहायत घटिया किस्‍म का गीत है- ‘बॉडी जकड़ गइल बा…’ पिक्‍चराइज किया गया है। लेकिन शातिराना तो अंदाज देखिए इसके मेकर्स का कि इस घटिया गीत को उन्‍होंने ट्रेलर में नहीं डाला। यानी दर्शकों के साथ धोखाधड़ी की।

दरअसल, इस गाने के बारे में जानकारी तब मिली, जब दुर्गापूजा के पावन अवसर पर फिल्‍म देखने गये लोगों ने हॉल में इस गीत के शुरू होते ही गालियां देनी शुरू की। छानबीन पर पता चला कि खेसारी के गदावाले पोस्‍टर को देखकर दर्शकों ने ये कयास लगा लिया था कि फिल्‍म शायद साफ होगी। लेकिन हॉल में जब उन्‍होंने विपरीत हश्र देखा तो वो अपना आपा खो बैठे।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इसके मेकर्स को भरोसा था कि इस गीत के डालने पर माउथ पब्‍लिसिटी होगी और फिल्‍म देखने दर्शकों की भारी भीड़ जमा होगी। और ऐसा करने से सोशल मीडिया में यह बात भी नहीं उछलेगी। लेकिन दर्शकों ने गाली देकर और इस फिल्‍म को देखना बंदकर अपनी बातें सोशल मीडिया तक पहुंचाकर इसके मेकर्स को समझा दिया कि वो गंदगी को अब और बर्दाश्‍त नहीं करेंगे।

लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर ट्रेलर में इस घटिया गीत को छुपाया क्‍यों गया?  ट्रेड के जानकारों की मानें तो फिल्‍म के मेकर्स नहीं चाहते थे कि अश्‍लीलता विरोधी इस दौर में उनकी इस फिल्‍म पर रिलीज होने से पहले ही इस पर अश्‍लील होने का ठप्‍पा लगे और सोशल मीडिया में भद पिटे। यही कारण था कि उन्‍होंने इसे ट्रेलर में डालने की बजाय सीधे फिल्‍म में दिखाने का निर्णय लिया। लेकिन धन्‍य है सोशल मीडिया, जिसने हकीकत दुनिया के सामने लाकर दर्शकों का पॉकेट कटने से बचा लिया और मेकर्स को सबक भी सिखा दिया। उन्‍हें इस फिल्‍म में भी अन्‍य फिल्‍मों की ही तरह घाटा उठाना ही पड़ेगा।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!