कुमार विकल पर कस रहा है कानूनी शिकंजा : रितेश राय के पैसे लौटायें वर्ना जारी हो सकता है वारंट

भोजपुरी इंडस्‍ट्री की बर्बादी की स्‍क्रिप्‍ट कई लोगों ने मिलकर लिखी है। वक्‍त आ गया है कि ऐसे लोगों को पर्दाफाश किया जाये, ताकि बची-खुची इंडस्‍ट्री को फिर से संभलने का मौका मिले। शुक्रिया अदा करना होगा सोशल मीडिया का, जो चार सौ बीस लोगों की पोल खोलने में मददगार साबित हो रहा है।

गत् 18 अगस्‍त की एक घटना हम आपको याद दिलाते हैं। newsgossip.in ने लेखक-निर्देशक कुमार विकल की पोल खोलते हुए बताया था कि उन्‍होंने किस तरह से भोजपुरी इंडस्‍ट्री के तमाम लोगों के साथ ठगबाजी की है है। ठगे गये लोगों में एक नाम भोजपुरी एक्‍टर रितेश राय का भी है, जिनको अपने जाल में फंसाने के लिए कुमार विकल उनके दिल्‍ली स्‍थित घर तक पहुंच गये थे।

रितेश राय ने बताया कि कैसे उनके साथ कुमार विकल ने धोखाधड़ी की है

फिर गुजरते वक्‍त के साथ जल्‍दी ही वो अपने मकसद में कामयाब हो गये और उन्‍होंने अपनी फिल्‍म में काम देने के बहाने रितेश राय के दो लाख रुपये ठग लिये। बाद में कुमार विकल ने जब रितेश को न तो काम दिया और न ही उनके पैसे लौटाये तो उन्‍होंने कुमार विकल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी।

अपनी शिकायत में रितेश ने साफ-साफ बताया है कि आम्रपाली फिल्‍म्‍स के डायरेक्‍टर कुमार विकल से उनका परिचय फेसबुक के माध्‍यम से हुआ। चूंकि वो पहले भोजपुरी के बड़े सितारों को लेकर फिल्‍म बना चुके थे, इसलिए रितेश को उन पर यकीन आ गया और वो उनके साथ फिल्‍म करने के चक्‍कर में अपनी गाढ़ी कमाई के दो लाख रुपये गंवा बैठे।

कुमार विकल की धोखाधड़ी : मुहूर्त पर मुहूर्त, पर फिल्म एक भी नहीं बन पा रही है, आखिर क्यों?

अब तक इस मामले में दो तारीखें पड़ चुकी हैं, लेकिन कुमार विकल एक भी तारीख पर कोर्ट के समक्ष हाजिर नहीं हुए हैं। अगली तारीख 12 दिसंबर 2018 है। इस दिन कुमार विकल को दिल्‍ली के मेट्रोपोलिटन मजिस्‍ट्रेट के समक्ष हाजिर होना है। अगर वो इस दिन भी हाजिर नहीं होते हैं तो उनके खिलाफ वारंट जारी हो सकता है। यानी कुमार विकल को अगर ये लगता है कि वो कोर्ट के समक्ष हाजिर हुए बिना इस मामले को सेटल कर लेंगे तो ये उनकी बहुत बड़ी भूल है।

कुमार विकल की ही तरह कभी रमेश व्‍यास ने भी बिहार के जाने-माने फिल्‍म वितरक और भाजपा सांसाद डॉक्‍टर सुनील के साथ पैसों के मामले में चार सौ बीसी की थी। लेकिन उसी रमेश व्‍यास को दो महीने पहले किस तरह पटना एयरपोर्ट पर पकड़ा गया और कैसे उनकी कमर में रस्‍सी बांधकर और हाथों में हथकड़ी लगाकर कोर्ट के समक्ष लाया गया, उसे रमेश व्‍यास शायद जिंदगी भर नहीं भूल पायेंगे। जानते हैं तकरीबन 10 दिन बाद जब रमेश व्‍यास सारे पैसे कोर्ट के सामने भरकर जेल से बाहर आये थे, तो अपने सगे-संबंधियों को पकड़कर फूट-फूटकर रोने लगे थे।

कुमार विकल की धोखाधड़ी का शिकार धर्मेंद्र कुमार : सभी व्‍हाट्सएप ग्रुप में लिखी अपनी दर्द भरी दास्‍तान

इतना ही नहीं, उनको इतनी हिम्‍मत नहीं थी कि वो वहां से होटल जायें और फ्रेश होकर मुंबई की उड़ान भरें। जानते हैं, रमेश व्‍यास होटल न जाकर सीधे एयरपोर्ट गये और वहां से फ्लाइट पकड़कर मुंबई चले आये।

ताजा मामला बॉलीवुड के जानेमाने कलाकार राजपाल यादव से जुड़ा हुआ है। पैसों की ही लेन-देन और कोर्ट के प्रति लापरवाही की वजह से कोर्ट ने पिछले हफ्ते उन्‍हें तीन महीनों के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया।

उम्‍मीद है कि कुमार विकल इस मामले को गंभीरता से लेंगे और किसी तरह व्‍यवस्‍था कर रितेश के पैसे वापस लौटा देंगे, ताकि कानूनी पचड़ों से उन्‍हें मुक्‍ति मिल सके। वर्ना यह मामला भी लगातार गिरफ्तारी की दिशा में ही बढ़ रहा है। अभी भी अगर कुमार विकल नहीं संभले तो उनका खुदा ही मालिक है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!