Menu
0 Comments

भोजपुरी फिल्मों के एक्शन हीरो विशाल सिंह राजपूत ने अपने पड़ोस में रहनेवाले 13 साल के लड़के राकेश को मार डाला। विशाल पर यह आरोप मृतक के परिवार वालों ने लगाया है। यह घटना कल दोपहर यानी 5 मार्च की है। कहा तो यह भी जा रहा है कि राकेश की मौत को एक दीवार ढहाकर दुर्घटना का रूप देने का भी प्रयास किया गया।

दरअसल, विशाल सिंह डेमुसा, जमुनहिया निवासी पूर्व जिला पंचायत सदस्य रामधारी सिंह का बेटा है और भोजपुरी फिल्मों में काम करता है। एक्ट्रेस रिंकू घोष और विराज भट्ट के साथ 2015 में कैरियर शुरू करने वाले विशाल ने आधा दर्जन से अधिक सुपरहिट फिल्में दी हैं। भोजपुरी दर्शकों के बीच उसकी इमेज एक्शन हीरो की है। उसने ‘ग़दर 2’, ‘हथियार’, ‘ले आइब दुल्हनिया पाकिस्तान से’ सहित कई एक्‍शन पूर्ण फिल्‍में की हैं। उसकी फिल्म ‘राजकुमार’ इसी शुक्रवार को बिहार में रिलीज होने जा रही है।

ख्‍बरों के अनुसार विशाल कुछ दिन पूर्व छुट्टी बिताने के लिए घर आया था। उसके पिता रामधारी सिंह ने घर के पास ही पानी का एक हौज बनवा रखा है। उसी हौज में पड़ोसी राम सागर का बेटा राकेश रोजाना नहाता था। हमेशा की भांति मंगलवार की दोपहर को भी वह उसमें नहा रहा था। हौज में उसका नहाना विशाल को अच्‍छा नहीं लगा और उसने राकेश पर पानी गंदा करने का आरोप लगाते हुए अपशब्द कहना शुरू कर दिया। राकेश ने भी जब विरोध में कुछ कह दिया तो विशाल का गुस्‍सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। फिर तो उसने फिल्मी स्‍टाइल में राकेश की धुनाई कर दी।

खबरों की मानें तो चोट अंदरूनी लगने के कारण राकेश की हालत जब अचानक बिगड़ने लगी, तो विशाल के शातिर दिमाग ने एक फिल्‍मी कहानी गढ़ दी। उसने घर के पास खड़ी एक पुरानी दीवार ढहाकर राकेश के उसमें दबने का स्‍वांग रचा डाला। हैरत की बात तो ये कि उसने राकेश के घरवालों को कुछ नहीं बताया और गंभीर हाल राकेश को अपनी गाड़ी में लादकर अपने पिता के साथ अस्‍पताल चल दिया।

इधर राकेश के घरवालों को जब यह पता चला कि दीवार ढहने से राकेश घायल हो गया है और विशाल के पिता उसे लेकर अस्पताल जा रहे हैं तो घरवालों का दिमाग सटक गया। मौके पर मौजूद लोगों ने भी इस वाकये पर शक जताया और  विशाल के पिता का पीछा करते हुए घेर लिया। राकेश उसकी गाड़ी में अचेत पड़ा था। उसे फौरन अस्‍पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्‍टरों ने तफतीश करने के बाद उसे मृत घोषित कर दिया।

बर्बरतापूर्ण घटी इस घटना ने पूरे क्षेत्र के लोगों को आक्रोशित कर दिया। सभी ने मिलकर गगहा थाने का घेराव कर विशाल, उसके पिता रामधारी सिंह समेत अन्य के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। पब्‍लिक का दबाव देख हरकत में आई पुलिस ने रामधारी सिंह को तुरंत हिरासत में ले लिया। लेकिन विशाल भाग निकला।

पुलिस ने राकेश के बाबा रामवृक्ष की तहरीर पर विशाल और उसके पिता सहित कुल छह लोगों के खिलाफ खिलाफ मर्डर, डेडबॉडी को छिपाने, बलवा सहित कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। फिलहाल पुलिस टीम आरोपी विशाल सहित अन्य की तलाश में जुटी हुई है।

कक्षा सात में पढ़ने वाला राकेश चार भाई-बहनों में सबसे छोटा था। उसके बाबा ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि राकेश को रिवाल्वर लगाकर आरोपी अपने घर में ले गए और पुरानी रंजिश के कारण पीट-पीटकर उसे मार डाले। वो डेडबॉडी को छिपाने की नीयत से अपने फोर व्हीलर में लादकर गांव से भाग रहे थे, लेकिन लोगों की मदद से उनकी गाड़ी को रोक लिया गया। गाड़ी में अचेत पड़े राकेश को फौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Tags: , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!