Menu
0 Comments

भोजपुरी इंडस्‍ट्री के दो शेर हैं। दोनों भोजपुरी फिल्‍मों की अश्‍लीलता के जंगल में जमकर दहाड़ लगाते हैं। उनमें से एक का नाम पवन सिंह है तो दूसरा है दिनेश लाल निरहुआ। पवन को लेकर शशांक राय ने ‘शेर सिंह’ बनायी है तो दिनेश को लेकर रत्‍नाकर कुमार ने ‘शेर-ए-हिंदुस्‍तान’। दोनों के बारे में यही सुनने में आ रहा था कि होली पर रिलीज होंगी। लेकिन अभी तक दोनों में से किसी की रिलीज डेट अभी तक घोषित नहीं हुई है।

हालांकि सोशल मीडिया में निरहुआ की ‘शेर-ए-हिंदुस्‍तान’ का एक पोस्‍टर जरूर तैर रहा है, लेकिन उसमें निरहुआ को घोड़े पर सवार दिखाया गया है, जबकि पहले शेर पर सवार दिखाया गया था। उस पोस्‍टर पर ये तो लिखा गया है कि फिल्‍म होली पर रिलीज की जा रही है, लेकिन किसी तारीख का जिक्र नहीं है उस पोस्‍टर पर।

बात अगर पवन सिंह की फिल्‍म ‘शेर सिंह’ की करें तो इसके बारे में फिलहाल कोई हलचल सुनायी नहीं दे रही है। दुर्गापूजा, दशहरा, दिवाली, छठ, क्रिसमस सारे त्‍योहार बीत गये, लेकिन किन्‍हीं न किन्‍हीं कारणों से फिल्‍म रिलीज नहीं हो पायी। इसके निर्माता महोदय ने होली पर हर हाल में रिलीज करने का दावा किया था, लेकिन उनका दूर-दूर तक कहीं अता-पता नहीं चल रहा है। ये सब देखते हुए इस फिल्‍म के रिलीज होने के आसार कम ही नजर आ रहे हैं।

इतिहास गवाह है। जिस किसी फिल्‍म की रिलीज लंबे समय तक टलती रही है, उसका हश्र अक्‍सर अच्‍छा नहीं देखने को मिला है। पवन सिंह की ‘लोहा पहलवान’ खेसारी की ‘नागदेव’ और निरहुआ की हालिया रिलीज ‘निरहुआ चलल लंदन’ को देख लीजिए। ईमानदारी की नजर से देखेंगे तो हश्र नजर आ जायेगा। इन सभी फिल्‍मों में निर्माताओं का दिवाला ही निकला है।

’शेर सिंह’ के निर्माता शशांक राय को चाहिए कि किसी भी तरह वो अपनी इस फिल्‍म को रिलीज करें, वर्ना और अधिक देर होने का अंजाम उनकी फिल्‍म के लिए कतई अच्‍छा नहीं ही होगा।

‘निरहुआ चलल लंदन’ में खासी चोट खाये वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स के रत्‍नाकर कुमार ने निरहुआ को ही लेकर ‘शेर-ए-हिंदुस्‍तान’ बनायी है और वो इसे रिलीज करने की जुगत में लग भी गये हैं। अब ये देखना दिलचस्‍प होगा कि इसे भी कोई वितरक लेने को तैयार होता है या फिर थक-हारकर रत्‍नाकर को ही निरहुआ एंटरटेनमेंट के साझेदारी वाले ऑफिस में बैठकर खुद ही रिलीज करना पड़ता है। लेकिन इस फिल्‍म में एक नयापन जरूर है और वो ये कि इसकी हीरोइन नयी है। वर्ना निरहुआ और आम्रपाली की जोड़ी को तो दर्शक दूर से ही नमस्‍कार कर लेते हैं। आखिर इस महंगाई में पैसे देकर उन्‍हीं उबाऊ चेहरों को कोई कितनी बार देखेगा…क्‍योंकि एक्‍टिंग के नाम पर पर्दे पर सिवाय अश्‍लीलता के और कुछ होता ही नहीं।

-एस.एस.मीडिया डेस्‍क

Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!